कविताएँ

भर्तृहरि : पाँच प्रेम कविताएँ

खिड़की पर बना बिम्ब

कपास

गंगावली की दोड्डम्मा

जंगल के जानवर और वर्तनी की ग़लतियां

नोटबुक का खोना

प्रेम-कथाओं के खलनायक

भूला हुआ फ़ोन

दादी और आटा

छुट्टियों में घर

शादी का फोटोग्राफर

फेरीवाले को देखते हुए

मरकस बाबा की यूटोपिया

आत्मदया

मैं सुनना चाहता हूँ

टाइप थ्री सोलह सी बोकारो रेलवे कॉलोनी

काफ्का की कॉपी

Advertisements