इंडियारी

इंडियारी पांच भाषाओं की ऑनलाइन साहित्यिक पत्रिका है, जिससे मैं हिंदी से संपादक के रूप में जुड़ा हुआ हूँ. हिंदी के अलावा हम मलयालम, कन्नडा और अंग्रेजी साहित्य के अलग-अलग अंक हर दो महीने पर निकालते हैं. इन अंकों की चयनित सामग्री का अनुवाद बाकी चारों भाषओं में भी किया जाता है, ताकि इन भाषाओं के बीच आदान-प्रदान को बढ़ावा मिले. इसे हम एक साहित्यिक और सामाजिक प्रयोग की तरह भी देख रहे हैं, जिसके निष्कर्ष अभी आने बाकी हैं.

साहित्य के अलावा हम बाकी कलाओं के प्रति भी कटिबद्ध हैं. हर महीने हम यहाँ फिल्म, फोटोग्राफी इत्यादि के ऑनलाइन महोत्सव भी कराते हैं, जिसमें दुनिया भर से लोग शामिल होते हैं. साथ ही इंडियारी की वेबसाइट में हम एक ऑनलाइन पुस्तकालय भी चलाते हैं जहाँ पांच लाख से अधिक पुस्तकें फ्री डाउनलोड के लिए उपलब्ध कराए गए हैं. आशा है आपको हमारी यह मुहीम पसंद आएगी.

इंडियारी वेबसाइट

Advertisements